भूना मामला: मृतक का शव सड़क पर रख लगाया जाम, यह कर रहे मांग

भूना/कुलदीप। चंदननगर में पुलिस की मौजूदगी में हुई गुंडागर्दी की भेंट चढ़े मुकेश कुमार के परिजनों और लोगों में भारी रोष व्याप्त है। आज लोगों ने मृतक का शव पुराना बस स्टैंड के सामने सड़क पर रखकर चंडीगढ़ रोड जाम कर दिया। गुस्साए लोग लगातार हत्यारों को फांसी देने और पीडि़त परिवार को इंसाफ दिलाने की मांग उठा रहे हैं। वहीं आज पूरे कस्बे में अधिकतर दुकानें भी बंद हैं। सब्जी व फल विक्रेताओं ने अपनी रेहडिय़ां भी नहीं लगाईं। सूचना पाकर प्रशासनिक अमला भी मौके पर पहुंचा। लोगों की मांग है कि मृतक की पत्नी को आंगनबाड़ी या अन्य सरकारी विभाग में नौकरी, 50 लाख रुपये की आर्थिक मदद, पुलिस सुरक्षा, परिवार को आम्र्स लाइसेंस बनाकर देने व इस घटनाक्रम में नामजद 40 बदमाशों को तुरंत गिरफ्तार किया जाए।

ALSO READ  ओवरलोड ट्रक में उलझी बिजली की तारें, ट्रांसफार्मर और कई खंभे गिरे, खच्चर करंट से बेसुध बड़ा हादसा टला

 

एसडीएम ने मौके पर पहुंचकर जाम खुलवाने का प्रयास किया। प्रशासन द्वारा आम्र्स लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया शुरू करने का आश्वासन दिया है। वहीं बताया है कि 9 आरोपियों को पकड़ लिया गया है। लेकिन परिजन अन्य मांगों को लेकर अड़े हुए हैं। चंदन नगर निवासी मुकेश केले की रेहड़ी लगाकर अपने परिवार का पालन पोषण कर रहा था। मृतक अपने पीछे 12 वर्षीय बेटा विशाल तथा 10 वर्षीय बेटी काकुल को छोड़ गया। पूर्व सीपीएस प्रहलाद सिंह गिल्लांखेड़ा ने भी मौके पर पहुंचकर लोगों से बात की।

आपको बता दें कि चंदननगर में रविवार को हुई हिंसक घटना में घायल मुकेश कुमार ने बीते दिन हिसार के निजी अस्पताल में दम तोड़ दिया था। इस घटना के बाद से ही लोगों में गुस्सा व्याप्त था, जो युवक की मौत के बाद और भड़क गया। बीती शाम को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को शव सौंपा गया, जिसका संस्कार नहीं करवाया गया बल्कि शव को कुम्हार धर्मशाला में ले गए और आज रोड जाम करने की चेतावनी दी थी। सुबह होते ही लोग शव लेकर पुराना बस स्टैंड के पास पहुंचे और सिरसा-चंडीगढ़ हाईवे जाम कर दिया।

ALSO READ  विधायक के कार्यालय पहुंचे व्यापारी, बोले हमारा रोजगार बंद हुआ तो सरकार का भी नहीं चलने देंगे

 

ज्ञात रहे कि चंदननगर में रविवार रात को एक युवक द्वारा दुकानदार गरीबदास के 8 वर्षीय बेटे शिवम द्वारा बीड़ी का बंडल न देने पर अपने साथियों को बुलाकर जमकर उत्पात मचाया था। दुकानदार के घर पर ईंटें बरसाई और चाकू चलाए। चाकू लगने से दुकानदार का बड़ा बेटा मुकेश और उसका चाचा रमेश घायल हुए, जबकि कई अन्य को चोटें लगी थी। दोनों घायलों को हिसार के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

 

पुलिस ने बाद में 6 नामजद कर 40 अज्ञात के खिलाफ 307, 326 का मामला दर्ज किया था। मामूली बात पर हुई कहासुनी के बाद उपद्रवियों द्वारा मचाए गए खूनी आतंक का शिकार बेकसूर मुकेश को होना पड़ा। वही प्रत्यक्षदर्शियों ने यह भी बताया है कि घटना की सूचना मिलते ही उकलाना से डायल 112 की गाड़ी मौके पर पहुंच गई थी। लेकिन हमलावरों ने पुलिस टीम के सामने भी घरों में पथराव जारी रखा और इस पथराव के दौरान करीब 8 लोगों को गंभीर चोटें आई थी। वहीं बीते दिन इसी मामले में एक महिला ने नामजद दो आरोपियों पर उससे रेप के प्रयास के आरोप जड़े थे। इस मामले में भी पुलिस ने केस दर्ज किया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *