डेरा प्रेमी की गोलियां मार कर हत्या, सुरक्षा के लिए मिला गनमैन भी घायल

फरीदकोट। पंजाब में लगातार अप्रिय घटनाएं सामने आ रही हैं। आज सुबह फरीदकोट में गोलियाँ मारकर एक डेरा प्रेमी की हत्या कर दी गई। डेरा प्रेमी पर श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी का मामला दर्ज था। जिस समय प्रदीप अपनी दुकान खोलने अपनी डेयरी खोलने पहुंचा था उसी दौरान दो बाइक पर सवार होकर आए आधा दर्जन के करीब युवकों ने उस पर गोलियां चलानी शुरू कर दी। जिससे उसकी मौत हो गई। आपको बता दें कि प्रदीप जमानत पर बाहर आया हुआ था और उसे सुरक्षा भी मिली हुई थी। इस घटना के दौरान उसका सुरक्षाकर्मी भी उसके साथ था, जो घायल है।

डेरा प्रेमी प्रदीप का इंतजार करते आरोपी

जानकारी है अभी सामने आ रही है कि इस घटना में साथ लगती है एक अन्य दुकान के संचालक को भी गोली लगी है जिससे वह घायल हो गया। वारदात को अंजाम देकर आरोपी युवक मौके से फरार हो गए। घटना की एक सीसीटीवी फुटेज भी सामने आई है जिसमें ताबड़तोड़ गोलियां चलाते हुए युवक दिख रहे हैं। पुलिस के अनुसार इस घटना में प्रदीप का गनमैन भी घायल हुआ है। हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया कि इस घटना को बेअदबी मामले के चलते अंजाम दिया गया या किसी अन्य रंजिश के चलते। फिलहाल पुलिस सीसीटीवी कैमरों के बिहाफ़ पर जांच-पड़ताल कर रही है।

ALSO READ  सोनाली फोगाट : हरियाणा के सीएम ने गोवा सीएम को किया फोन

सीसीटीवी कैमरे में देखने को मिल रहा है कि आरोपी युवक बिना नंबर की एक बाइक पर आते हैं और प्रदीप का पहले वही पर इंतजार करते हैं। जैसे ही प्रदीप दुकान खोलने आता है तो उस पर गोलियां चलानी शुरू कर देते हैं जिससे पता लग रहा है कि पूरी घटना को प्लानिंग के तहत अंजाम दिया गया। पंजाब में लगातार इस तरह की घटनाएं सामने आ रही हैं। बीते दिनों अमृतसर में शिवसेना नेता की सुरक्षाकर्मियों के बीच गोली मारकर हत्या कर दी गई थी और अब फरीदकोट में सुरक्षाकर्मी के साथ के होते हुए भी एक डेयरी संचालक की हत्या कर दी गई। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने ट्वीट कर कहा है कि पंजाब की शांति भंग नहीं होने दी जाएगी।

ALSO READ  Patanjali Products ban : पतंजलि की दृष्टि आई ड्रॉप से लेकर मधुनाशिनी वटी पर तक पाबंदी लगी, आए जानें किन-किन उत्पादों के लाइसेंस हुए कैंसल

आपको बता दें कि पंजाब के बरगाड़ी गांव में 2015 में श्री गुरू ग्रंथ साहिब के अंग फाडऩे का मामला सामने आया था। यह मुद्दा अभी भी बना हुआ है। सिख समुदाय ने जमकर विरोध किया था, बाद में इस मामले में मृतक पर केस दर्ज हुआ और वह जेल भेज दिया गया। फिल्हाल वह जमानत पर बाहर था और उसे सुरक्षा दी गई थी।

हत्या के बाद सोशल मीडिया पर गैंगस्टर गोल्डी बराड़ केे नाम से एक पोस्ट डाली गई है, जिसमें इस हत्या की जिम्मेवारी ली गई है। पोस्ट में दावा किया गया है कि उन्हें बेअदबी केस में इंसाफ नहीं मिला तो ऐसा कर दिया गया। साथ ही गनमैन के घायल होने पर अफसोस प्रकट किया गया है। अब यह पोस्ट बराड़ द्वारा की गई है, या किसी और द्वारा इस मामले में जांच जारी है।

ALSO READ  Indian Dowry- system update : दहेज प्रथा पर सख्त हुई सरकार, सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज न लेने का शपथपत्र! शिक्षक बोले, पढ़ी-लिखी लड़की चाहिए

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *