Great news for 4 states including Haryana! This time there will be no shortage of irrigation and drinking water in Bhakra Dam.

Bhakra Nangal Dam News : हरियाणा समेत 4 राज्यों के लिए आई बड़ी खुशखबरी ! सिंचाई व पीने के पानी को लेकर भाखड़ा बांध में अबकी बार नहीं होगी किल्लत

Bhakhra Nangal Dam News : बैशाख के दिन गुजरने वाले है और ज्येष्ठ माह लगने वाला है। ऐसे में लू के साथ गर्मी का भी पारा भी चढ़ता ही जा रहा है, जिससे शहर के लोगों से लेकर गांव के ग्रामीण किसानों का जीवन गर्मी से बदहाल हो रहा है। लेकिन शहर के लोगों केे लिए शुद्ध पेयजल और ग्रामीण किसानों की कृषि सिंचाई व्यवस्था के लिए भाखड़ा बांध से राहत भरी खबर आ रही है।

 

हरियाणा समेत पंजाब, हिमाचल प्रदेश और राजस्थान के लोगों के लिए अबकी बार पानी की किल्लत की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। टाईम से पहले ग्लेशियर पिघलने से इस बार नंगल स्थित भाखड़ा बांध (Bhakra Nangal Dam News) में पर्याप्त जलस्तर बढ़ रहा है। ऐसे में लोगों को सिंचाई से जुड़ी समस्याओं से राहत मिलने वाली है।

ALSO READ  बेरहमी से गला रेत कर महिला की हत्या

 

भाखड़ा प्यास मैनेजमेंट बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया की, हिमालय पहाड़ियों में ग्लेशियर पिघलने से नंगल स्थित भाखड़ा बांध (Bhakra Nangal Dam News) में पानी आना शुरू हो गया है। इस समय भाखड़ा बांध का जलस्तर 1561.44 फीट चल रहा है, जो कि हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश और राजस्थान में सिंचाई व पीने के लिए पानी पर्याप्त है। यहां से कुछ जल पेयजल के लिए दिल्ली भी पहुंचाए जाता है। 

 

भाखड़ा बांध (Bhakra Nangal Dam News) में पानी की पर्याप्त जल स्तर के चलते हरियाणा में सिंचाई के लिए नहरों के दो ग्रुप बनाए गए हैं। बता दें कि, प्रत्येक ग्रुप को 16- 16 दिन पानी मिलता है। पहले यहां पानी की किल्लत के चलते तीन ग्रुप बना दिए गए थे, पर अब भयंकर गर्मी के कारण लोगों की सिंचाई व्यवस्था के लिए नहरों में पानी 16 दिन मिल रहा है।

ALSO READ  भाजपा के हो ही गए कुलदीप बिश्नोई, बोले हम तो मान-सम्मान के भूखे

 

 

भाखड़ा बांध (Bhakra Nangal Dam News) से पानी नंगल हाईडल चैनल से आता है। इसके बाद, यहां से भाखड़ा की मेन नहर निकलती है। भाखड़ा मेन नहर से पानी नरवाना ब्रांच नहर, दिल्ली व करनाल पहुंचता है। यहां से पानी हरियाणा, दिल्ली, पंजाब व राजस्थान के कुछ ईलाकों में जाता है। औसत रुप से यहां से रोजाना 17,770 क्यूसेक पानी निकासी की डिमांड रहती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *