सोशल मीडिया पर झूठे व भ्रामक पोस्ट करने पर होगी सख्त कार्रवाई: आस्था मोदी

फतेहाबाद 18 मई। पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी, आईपीएस ने जिला के सभी पुलिस अधिकारियों तथा थाना प्रभारियों को सोशल व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर पैनी नजर बनाए रखने के सख्त निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में लोकसभा चुनाव 25 मई को होने निर्धारित है। चुनाव आयोग से मिले दिशा-निर्देशों की अनुपालना के तहत जिला में शांति एवं सौहार्द के वातावरण में चुनाव सम्पन्न करवाना पुलिस का परम दायित्व है।

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि ऐसे अवसर पर असामाजिक तत्व सोशल मीडिया का भी सहारा लेते है, तथा सोशल मीडिया पर झूठे व भ्रामक पोस्ट डालकर व प्रचार करके आमजन को गुमराह कर सामाजिक सौहार्द को नुकसान पहुंचाते है। एसपी आस्था मोदी ने कहा कि इस प्रकार की झूठी व सनसनी फैलाने वाली पोस्ट से समाज में असंतोष की भावना को बढ़ावा मिलता है, वहीं कानून व्यवस्था की स्थिति भी खराब होने की संभावना बनी रहती है।

ALSO READ  जाखल में सरकारी कार्यालयों पर सीएम फ्लाइंग की रेड, कई गैरहाजिर बोले मंत्री के कार्यक्रम में थे

उन्होंने कहा कि ऐसे असामाजिक तत्व व्यक्तिगत तौर पर भी लोगों को उकसाने का प्रयास करते हैं। इस संबंध में सभी पुलिस अधिकारियों से ऐसे लोगों पर पैनी नजर रखने व खुफिया तंत्र को हाई अलर्ट पर रखने के सख्त निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की फेक व लोगों में सनसनी फैलाने वाली पोस्टों पर सख्ती से अंकुश लगाने व ऐसी पोस्ट अथवा अफवाह फैलाने वालों की पहचान कर प्रभावी कार्रवाई करने के निर्देश दिये गए हैं। उन्होने कहा कि भ्रामक व झूठी खबरों/पोस्टो से क्षेत्र में माहौल खराब होता है, वहीं कानून व्यवस्था के लिये भी खतरा पैदा होता है ।

पुलिस अधीक्षक ने आमजन से भी अपील की है कि वे बिना सच्चाई जाने किसी भी पोस्ट व वीडियो को फॉरवर्ड ना करे व अफवाहों से बचें। उन्होंने कहा कि असामाजिक तत्व आमजन, युवाओं व छात्रों को भी भ्रमित कर उन्हे भी गैर कानूनी कार्य करने के लिए उकसाते है, ऐसे लोगों से सावधान रहे। एसपी ने जिला में चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से तथा सौहार्दपूर्ण माहौल में सम्पन्न करवाने की जिला पुलिस की प्रतिबद्धता को दोहराते हुए जिला के लोगों से भी सहयोग की अपील की है। पुलिस अधीक्षक की ओर से सभी थाना प्रभारियों को ये भी निर्देश जारी किया गये है कि सोशल मीडिया पर भ्रामक प्रचार प्रसार को रोकने के लिये इस बारे में ज्यादा से ज्यादा लोगों व युवाओं को जागरूक किया जाए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *