Fatehabad Valmiki chowk murder

इंद्रपुरा में युवक का मर्डर: परिजनों ने डॉक्टर पर लगाए लापरवाही के आरोप, धरना

फतेहाबाद। वाल्मीकि चौक क्षेत्र में बीती देर सायं युवक ईश्वर पाल की हत्या मामले में आज उसके परिजनों ने नागरिक अस्पताल के बाहर धरना दे दिया और नारेबाजी की। परिजनों ने ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर पर लापरवाही बरतने के आरोप जड़े और पुलिस प्रशासन पर भी सख्त कार्रवाई करने की मांग की।
ईश्वरपाल के चाचा मुकेश ने बताया कि ईश्वर को जब नागरिक अस्पताल में लाया गया तो उसे मुंह पर घाव ज्यादा था और उसे ऑक्सीजन लेने में काफी दिक्कत हो रही थी। उन्होंने डॉक्टर को ऑक्सीजन देने को कहा, लेकिन वहां मौजूद डॉक्टर बॉबी ने कह दिया कि ऑक्सीजन की कोई जरूरत नहीं है। आरोप है कि पहले रेफर करने में समय बर्बाद किया गया और फिर रेफर करते समय एंबुलेंस में भी ऑक्सीजन नहीं दी गई, जिस कारण ईश्वर की रास्ते में ही मौत हो गई।

ALSO READ  बकाया रुपये मांगे तो समोसे वाले ने खौलता तेल उड़ेला, 6 झुलसे

फाइनेंस का काम करता था ईश्वर, रंजिशन हमला

परिजनों ने बताया कि शक्ति नगर निवासी ईश्वर फाइनेंस का काम करता था और उसने वाल्मीकि चौक के पास रहने वाले रवि पारचा को ढाई लाख रुपये फाइनेंस पर दिए थे, जिससे उसने यहां दुकान बना ली थी। उनका कहना है कि दोनों में रुपयों को लेकर ही विवाद था।

पुलिस का भी कहना है कि दोनों में रंजिश चली आ रही थी। परिजनों के अनुसार ईश्वर काकू के साथ स्कूटी पर अपनी फाइनेंस की किश्त किसी से लेने जा रहा था कि वाल्मीकि चौक के सामने इंद्रपुरा को जाने वाली गली में रवि ने हिसार से बुलाए अपने साथी अभिषेक व उसके भाई गोल्डी कबाड़ी ने उन्हें घेर लिया। जहां उक्त लोगो ंने छुरी से ईश्वर पर वार करने शुरू कर दिए।

ALSO READ  कोई पांच साल के लिए विधायक बनता है तो सीट नहीं छोड़ता, कुलदीप बिश्नोई ने बड़ा उदाहरण दिया है : दुग्गल

इश्वर की पीठ व पेट के पास काफी वार किए गए, बाद में तेजधार हथियार से ईश्वर के सिर व चेहरे पर वार किया गया। इस दौरान काकू वहां से भागा तो उस पर भी छुरी चलाई गई, लेकिन पेट के पास बेल्ट बंधी होने के चलते वह बच गया, उसे हल्की चोट लगी। ईश्वर के खून से गली सन गई। जिस पर परिजन तुरंत उसे नागरिक अस्पताल ले आए, जहां उसे हिसार रेफर किया गया। वहीं पुलिस आरोपियों की छानबीन में लगी है।

वाल्मीकि चौक पर लगाई पुलिस फोर्स

ईश्वर पर हुए हमले से वाल्मीकि चौक व इंद्रपुरा मोहल्ले में हड़कंप मच गया। वहीं वाल्मीकि चौक पर लोग जुटने लगे तो भारी पुलिस बल यहां लगा दिया गया, ताकि किसी प्रकार की अप्रिय घटना ना घटे।

ALSO READ  फतेहाबाद जिले के 11 गांव के नशा करने वाले 214 लोगों में 90 फीसदी में नपुंसकता के लक्षण

https://www.facebook.com/ampmnewsfatehabad/videos/1035309433801064

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *