स्कूटी के आगे रोकी कार, युवक गली में भागा तो पीछा कर तेजधार हथियारों से मारा

फतेहाबाद। बीती देर सायं इंद्रपुरा मोहल्ले में ईश्वर नामक युवक की तेजधार हथियारों से हमला कर हत्या कर दी गई। युवक के खून से गली सन गई। युवक फाइनेंस का काम करता था और हमलावर युवक के साथ उसकी रंजिश चल रही थी। दोनों आपस में पुराने जानकार भी थे। 2013 में धर्मशाला रोड पर हुए सतपाल ढाका मर्डर मामले में दोनों शामिल थे और उन्हें उम्रकैद की सजा हुई थी। बाद में हाईकोर्ट से बाहर आ गए थे।

ताजा मामले में आरोपी युवकों ने ईश्वर को वाल्मीकि चौक के पास रोका और तेजधार हथियारों से हमला कर दिया। बाद में पीछा करते हुए वाल्मीकि चौक के सामने इंद्रपुरा मोहल्ले को जाने वाली गली में छुरी, कापे, गंडासी आदि से हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया।

घटना में युवक केे दोस्त को भी छुरी लगी, लेकिन वह बाल-बाल बच गया। गंभीर घायल युवक को नागरिक अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे रेफर किया गया, रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। घटना के बाद वाल्मीकि चौक व इंद्रपुरा मोहल्ले में हड़कंप मच गया। इसके चलते वाल्मीकि चौक पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया। परिजनों ने बताया कि शक्ति नगर निवासी ईश्वर फाइनेंस का काम करता था और उसने वाल्मीकि चौक के पास रहने वाले रवि पारचा को ढाई लाख रुपये फाइनेंस पर दिए थे, जिससे उसने यहां दुकान बना ली थी। उनका कहना है कि दोनों में रुपयों को लेकर ही विवाद था।

ALSO READ  आईसीएसआई बोर्ड द्वारा घोषित दसवीं के परीक्षा परिणाम में अपैक्स कॉन्वेट का परिणाम रहा शत प्रतिशत

वहीं मृतक शक्ति नगर निवासी ईश्वर पाल के दोस्त रामनिवास मोहल्ला निवासी सुषांत उर्फ काकू ने बताया कि इश्वरपाल फाइनेंस का काम करता था, वह और इश्वर स्कूटी पर वाल्मीकि चौक पर फाइनेंस की किश्त लेने गए थे, किश्त लेकर वे वापस जाने लगे तो वाल्मीकि चौक के पास चौक निवासी रवि पारचा ने अपनी गाड़ी स्कूटी के आगे रोकी और गाड़ी में सवार रवि के हाथ में छुरी व हिसार निवासी अभिषेक व कबाड़ी के हाथ में कापा-गंडासी थे। आरोप है कि तीनों ने गाड़ी से उतरकर इश्वर पर दोनों तरफ से तेजधार हथियारों से हमला शुरू कर दिया।

उसके भी पेट में छुरी लगी, लेकिन ज्यादा चोट नहीं लगी। उसने बताया कि इश्वर खुद को बचाने के लिए घर की तरफ भागा तो इंद्रपुरा की गली में तीनों ने पीछा कर उसे गिरा लिया और उस पर तेजधार हथियारों से हमलाकर दिया। इश्वर की पीठ, पेट और सिर व गर्दन पर काफी वार हुए थे, जिससे काफी खून बह गया और गली में खून ही खून नजर आया। तुरंत उसे नागरिक अस्पताल में ले जाया गया, जहां से उसे रेफर कर दिया गया। रास्ते में उसकी मौत हो गई। वहीं पुलिस ने उसके दोस्त सुषांत की शिकायत पर तीनों आरोपियों के खिलाफ उस समय हत्या प्रयास में 307, 323, 34, 341 के तहत मामला दर्ज कर लिया। लेकिन युवक की मौत होने के बाद अब मामला हत्या का दर्ज किया गया है। पुलिस आरोपियों की छानबीन में लगी है।

ALSO READ  फतेहाबाद में रोड जाम करने वालों पर एफआईआर : पुलिस रेड के खिलाफ देर शाम किया था रोड जाम

शादी की खरीददारी करने फतेहाबाद आए युवक का हुआ था मर्डर

अहम बात यह है कि आरोपी रवि पारचा और मृतक ईश्वर दोनों एक दूसरे के जानकार थे और दोनों वर्ष 2013 में धर्मशाला रोड पर हुए सतपाल उर्फ राहुल ढाका निवासी ढाणी ईस्सर के हत्याकांड में शामिल थे। इनके अलावा कई अन्य आरोपी भी थे। मई 2013 में सतपाल को उस समय मौत के घाट उतार दिया गया था, जब वह अपनी अंतरर्जातीय शादी की खरीददारी के लिए फतेहाबाद आया था। वर्ष 2015 में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने इश्वर व रवि सहित पांच आरोपियों को उम्रकैद व 20-20 हजार रुपये जुर्माना की सजा सुनाई थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *