सरकार की अनोखी परंपरा : इस प्रकार जनप्रतिनिधियों ली शपथ

फतेहाबाद। पंचायती राज संस्थाओं के नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों ने आज अपने-अपने पदों की शपथ ग्रहण की। फतेहाबाद में जिला परिषद कार्यालय में सभी 18 वार्डों के सदस्यों को डीसी जगदीश चंद्र ने शपथ दिलवाई। मुख्यमंत्री मनोहर लाल और पंचायत मंत्री देवेंद्र सिंह बबली ने इस अवसर पर वर्चुअल रूप से जुड़कर अपने-अपने संदेश दिए। वहीं जिले के सभी 7 ब्लाकों के खंड कार्यालयों में ब्लाक समिति सदस्यों को एसडीएम व रिटर्निंग अधिकारियों तथा गांवों में ग्राम स्तर पर सरपंचों व पंचों को पद ग्रहण करवाकर शपथ दिलवाई गई। पंच व सरपंचों को संबंधित ग्राम पंचायत घर, ग्राम सचिवालय व स्कूल में कार्यक्रम आयोजित कर ग्राम संरक्षकों ने शपथ दिलाई गई।

 

जिला के 18 जिला परिषद सदस्यों, 143 ब्लॉक समिति सदस्य, 257 सरपंचों व 2600 पंचों को शपथ दिलाई गई। भट्टू कलां खंड के गांव किरढ़ान में हिसार मंडल की आयुक्त गीता भारती ने ग्राम पंचायत किरढ़ान के सरपंच व पंचों को पद की शपथ दिलाई। पहली बार ऐसा हो रहा है कि सरपंचों व पंचों को ग्राम स्तर पर शपथ दिलाई गई है।

ALSO READ  भट्टूकलां पुलिस ने चुनाव के दौरान शराब से भरी कार पकड़ी, दो व्यक्तियों को किया गिरफ्तार

 

साथ ही एक और अनूठी परंपरा मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने शुरू की। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमेशा सामूहिक रूप से जनप्रतिनिधियों को शपथ दिला दी जाती है, लेकिन नहीं, इस बार एक-एक करके सभी सदस्यों को शपथ दिलाई जाएगी, ताकि जो पद और प्रतिष्ठा की प्रतिज्ञा वे करेंगे, उस एक-एक शब्द को वे हमेशा याद रखें। जिसके बाद सभी जनप्रतिनिधियों को वार्डवाइज शपथ दिलाई गई।

वार्ड 10 के जिप पार्षद नहीं बोल पाए हिंदी

आज वार्डवाइज सभी जिला पार्षदों को उनके पद की शपथ दिलाई गई, इस दौरान जिला परिषद वार्ड 10 से वकील की बारी आई तो वे शुद्ध हिंदी के शब्दों को पूरी तरह पढ़ नहीं पाए। अटक-अटक कर बोलने पर डीसी ने उन्हें रोका। जिस पर उन्होंने कहा कि उन्हें बुखार है। जिसके बाद डीसी ने शपथ पत्र पढ़ा और पार्षद वकील पीछे-पीछे बोलते रहे। जिसके बाद उनकी शपथ पूरी हुई।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *