करोड़ों की सरपल्स जमीन हजारों में चहेेतों को दी ! विजिलेंस ने पूर्व एसडीएम व पटवारी को गिरफ्तार किया

फतेहाबाद। विजिलेंस विभाग की टीम ने धोखाधड़ी एवं भ्रष्टाचार के एक केस में फतेहाबाद के तत्कालीन एसडीएम सतबीर जांगू व तत्कालीन सरपल्स पटवारी जगदीश चंद्र को गिरफ्तार कर लिया है। उक्त दोनों के अलावा 9 अन्य लोगों पर 29 जून 2022 को भादंसं की धारा 120 बी, 166, 177, 409, 418, 420, आईपीसी, 13, 1 सी, 13,1 डी, पीसी एक्ट के तहत स्टेट विजिलेंस ब्यूरो हिसार ने मुकदमा दर्ज किया था। आरोप है कि तत्कालीन एसडीएम व पटवारी ने गांव भूंदड़ा की करोड़ों रुपये की 223 कनाल सरपल्स जमीन को पात्रों का न देकर अपने चहेतों के नाम करवा दी। जिन लोगों के नाम जमीन करवाई, उन 9 लोगों पर भी मुकदमा दर्ज हुआ है। इस मामले में जुलाई 2018 में जांच शुरू हुई थी और जून 2022 में मामला दर्ज हुआ, अब गिरफ्तारियां शुरू हो गई है।

ALSO READ  जिला परिषद और ब्लाक समिति के लिए शांतिपूर्वक मतदान जारी

दर्ज एफआईआर के अनुसार विजिलेंस जांच अधिकारी डीएसपी विजिलेंस सुरेंद्रपाल ने अपनी जांच में बताया है कि गांव भुन्दड़ा की 498 कनाल 14 मरले जमीन में से 223 कनाल यानि 28 एकड़ जमीन को 1981 में सरकार ने सरप्लस घोषित कर दिया था। नियमानुसार 1971 से पहले गांव के बाशिंदे, जिनके नाम 2 हेक्टेयर से ज्यादा भूमि ना हो, उन्हें यह जमीन अलॉट की जानी थी। लेकिन जांच में शामिल आया कि लगभग 11 करोड़ रुपये कीमत की यह जमीन मात्र 20 हजार रुपये से कम कीमत पर पात्र लोगों को न देकर उन लोगों को जमीन दे दी गई, जो या तो ज्यादा जमीन के मालिकान थे या फिर इस गांव के बाशिंदे ही नहीं थे।

इस मामले में तत्कालीन एसडीएम सतबीर जांगू व तत्कालीन सरप्लस पटवारी जगदीश चंद्र पर भी आरोप लगे। आरोप है कि सविंद्र सिंह भूंदड़ा के नाम 19 कनाल 2 मरले जमीन दे दी गई, नछत्तर सिंह रसूलपुर का रहने वाला है, उसे भी 44 कनाल 7 मरले जमीन दी गई, हरङ्क्षमद्र सिंह भूंदड़ा को 3 कनाल 2 मरले, मोहन सिंह भूंदड़ा को 14 कनाल अलॉट कर दी गई, गुरमेल सिंह भूंदड़ा को 16 कनाल दे दी, प्यारा सिंह दिगोह को 66 कनाल 19 मरले, हरविंद्र सिंह भूना को 3 कनाल 16 मरले, मिट्ठू सिंह रसूलपुर को 39 कनाल 8 मरले व जगसीर सिंह को अपात्र होते हुए जमीनें अलॉट कर दी गई। आपको बता दें कि सतबीर सिंह जांगू अब सेवानिवृत्त हो चुके हैं, जबकि पटवारी अभी भी भट्टू क्षेत्र में तैनात है।

ALSO READ  सात वर्षीया मासूम बच्ची से छेडछाड के 66 वर्षीय दोषी को 5 साल की कैद व जुर्माना

विजिलेंस डीएसपी राकेश मलिक ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि सोर्स से विभाग को 2018 में इस मामले की जानकारी मिली थी, जिसके बाद जांच शुरू की गई थी। जांच में आरोप सामने आने पर 29 जून 2022 को मामला दर्ज कर लिया गया था। आज इनमें से दो आरोपी पूर्व एसडीएम सतबीर सिंह जांगू व तत्कालीन पटवारी जगदीश चंद्र को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले में आगामी कार्रवाई की जा रही है।

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें

1 thought on “करोड़ों की सरपल्स जमीन हजारों में चहेेतों को दी ! विजिलेंस ने पूर्व एसडीएम व पटवारी को गिरफ्तार किया”

  1. बहुत अच्छा हुआ ऐसे लोगो के लिए ऐसा होना चाहिए था। ये भ्रष्ट आदमी था

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *