ढाणी ठोबा के सुनील गढ़वाल बने असिस्टेंट कमांडेंट, पिता का सपना किया पूरा

फतेहाबाद । गांव ढाणी ठोबा के सुनील कुमार गढ़वाल सीआईएसएफ यानी केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल में असिस्टेंट कमांडेंट बन गए हैं। इससे स्वजनों व गांव के लोगों में खुशी का माहौल है। वैसे गांव ही नहीं आसपास के क्षेत्र के पहले युवा इस पद पर चयनित हुआ है। सुनील कुमार की पत्नी कविता ने बताया कि उनके पति पहले सीआईएसएफ में सब इंस्पेक्टर के पद पर भर्ती हुए थे। करीब पांच साल तक इस पद पर नौकरी की। गत वर्ष उन्होंने संघ लोक सेवा आयोग द्वारा केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल में असिस्टेंट कमांडेंट के पद के लिए आयोजित परीक्षा में भाग लिया।

चयनित सहायक कमांडेंट को हैदराबाद स्थित केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा अकादमी प्रशिक्षण दिया गया। गत दिवस पर 15वें बैंच के सहायक कमांडेंट का दीक्षांत समारोह आयोजित हुआ। जिसमें भी सुनील कुमार को सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षु चुना गया। अकादमी के उप निदेशक द्वारा बकायदा इसकी ट्राफी दी गई। सुरक्षा बल में रहते हुए ही सुनील ने इस परीक्षा की तैयारी की। चयन होने से परिवार में खुशी है। फिलहाल सुनील कुमार का परिवार फतेहाबाद के बीघड़ रोड पर रहता है। हालांकि सुनील कुमार की शुरुआती शिक्षा गांव ढाणी ठोबा में ही हुई। इसके बाद अंबाला के इंजीनियर कालेज से बायो टेक्नोलाजी में बीटेक की।

ALSO READ  फतेहाबाद में बोले अभय चौटाला: देश में अघोषित आपातकाल की स्थिति, सत्ता से बाहर होगी भाजपा, कांग्रेस हाशिये पर

वहीं हिसार की गुरु जम्भेश्वर विश्वविद्यालय से फूड टेक्नोलाजी में एमटेक की। इस दौरान 2015 में सीआईएसएफ के लिए आयोजित एसएससी सीपीओ की परीक्षा पास करके सब इंस्पेक्टर के पद पर हो गया था। सुनील कुमार ने बताया कि उनके पिता दरिया सिंह गढ़वाल आर्मी में जवान रहे है। उनके पिता का सपना था कि उनका बेटा सुरक्षा बल में गजेटेड अधिकारी बने। उनके सपने को पूरा करने के लिए नौकरी मिलने के बाद भी तैयारी जारी रखी। इसके बाद आयोजित परीक्षा में भाग लेते रहे। गत वर्ष आयोजित परीक्षा का परिणाम अब जारी हुआ है। जिसमें उनका चयन हो गया।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *