Jind news : जींद की प्रतिभा ने हासिल किया यूपीएससी में 356 वां रैंक, पिता एएसआई ने बांटी खुशी से मिठाई

Jind news : जींद के गांव जुलानी के बेटी प्रतिभा नें यूपीएससी में 356 वां रैंक हासिल करके देश में गांव और जिला का नाम रोशन किया। कहा जाता है कि, प्रतिभा के दादा गुरू स्व. धन सिंह का इस क्षेत्र में अपना नाम और प्रभाव था। प्रतिभा की इस तरह कि सूचना मिलने पर दिल्ली पुलिस में एएसआई जवाहर सिंह का खुशी का ठिकाना नही रहा। पिता ने अपने सके संबधीं एंव रिश्तेदारों को प्रतिभा की सफलता के बारे में सूचित करते हुए खुशी जाहिर की और मिठाई बांटी।

 

प्रतिभा के परिवार के बारें में

जींद (Jind news) के गांव जुलानी के प्रतिभा के दादा गुरू स्व. धन सिंह का इस क्षेत्र में काफी बड़ा नाम था। जबकि प्रतिभा का बड़ा भाई मंदीप विदेश मंत्रालय में कार्यरत हैं। प्रतिभा का पिता जवाहर सिंह दिल्ली पुलिस में एएसआई हैं। जबकि मां संतोष स्वास्थ्य विभाग गुरूग्राम में स्टाफ नर्स हैं।

ALSO READ  Haryana news : सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, बीएड ( B.ED) डिग्री धारक प्राथमिक शिक्षकों की नहीं जाएगी नौकरी

 

प्रतिभा के जीवन के बारें में

गौरतलब है कि, प्रतिभा ने जींद (Jind news) के आदर्श विधा मंदिर में पांचवी कक्षा तक पढ़ाई की और फिर नौवीं कक्षा तक इंडस पब्लिक स्कूल में पढ़ाई की। उसके बाद प्रतिभा का परिवार गुरूग्राम चला गया। वहां से प्रतिभा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से बीएससी और गुड़गांव विश्वविद्यालय से एमएससी किया। उन्होंने वर्ष 2020 में आईआईटी  मुंबई से गणित में एमएससी की।

प्रतिभा हमेशा शिक्षा में होनहार और संघर्षशील छात्रा रही है। उन्होंने सभी बोर्डों और उच्च शिक्षा में 80 प्रतिशत से अधिक अंकों के साथ उत्तीर्ण किया है। यूपीएससी में चयनित होना प्रतिभा का सपना था। पहले प्रयास में वह सफल नहीं हुई, लेकिन उन्होंने हार नी मानी दूसरे प्रयास में 326 वां रैंक हासिल कर अपने माता-पिता के साथ गांव और जिला का नाम प्रदेश एंव देशभर में नाम रोशन किया।

ALSO READ  भाजपा की कल्याणकारी नीतियों का घर घर जाकर प्रचार करें कार्यकर्ता और विपक्ष के दुष्प्रचार से सावधान करें लोगों को : अशोक तंवर

माता-पिता ने प्रतिभा का समय-समय पर पूरा समर्थन किया। प्रतिभा को अध्ययन करने के लिए भी अधिक समय दिया, जिससे प्रतिभा ने स्व-अध्ययन के साथ समसामयिक मामलों पर ध्यान केंद्रित किया। उन्होंने कहा कि, गुरूग्राम में वह जिस घर में रहती हैं, उसी बिल्डिंग के एक मंजिल पर एक युवक यूपीएससी की तैयारी करता था। उसके चुनने के बाद में उससे प्रेरित हुई।

प्रतिभा ने आगे कहा, मेरी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता और शिक्षकों को देती हूं ! जिन्हें हर समय मेरा पूरा सर्पोट किया। वहीं जुलानी (Jind news) के निवासी केवल कृष्ण जुलानी ने कहा कि, गांव की बेटी प्रतिभा ने न केवल गांव का बल्कि राज्य एंव देश का नाम रोशन किया है, जिससे उन्हें अपनी प्रतिभा पर गर्व है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *