Increase credit score : बैंक लोन न मिलने पर बढ़ाएं ऐसे क्रेडिट स्कोर, आपको खुद फोन करेंगे बैंक वाले

Increase credit score : कई बार ऐसा होता हैं कि, कुछ बैंक वाले आपको लोन देन के लिए आनाकानी करतें हैं। ऐसे में आज के समय में लोन की सभी को जरूरत होती है। कई बार लोन न मिलना मुख्य कारण कम क्रेडिट स्कोर होता है। इसलिए आपका लोन पास नहीं हो पाता। इसलिए ध्यान रखें कि जब भी आप नए क्रडिट कार्ड (Increase credit score) या लोन के लिए आवेदन करते हैं। तो यही वो स्केार है, जिसकी मदद से आप लोन ले पाते हैं।

आमतौर पर 700 से अधिक स्कोर होने पर ही किसी व्यक्ति को लोन एप्रूव्ड किया जाता हैं। वही क्रेडिट यूजर का क्रेडिट स्कोर डाउन होने पर न तो उनको लोन मिलता हैं और न ही नए क्रेडिट कार्ड। ऐसा जब होता है तब यूजर का क्रडिट स्कोर 500 से नीचे चला जाता है।

ALSO READ  WhatsApp meta AI : क्या आपके WhatsApp पर Meta AI एक्टिवेट हुआ ? अगर नहीं तो जानिए- कैसे पा सकते हैं

 

क्रेडिट कार्ड का स्कोर कैसे बढ़ाएं

बता दें कि, आप अपने क्रेडिट कार्ड का स्कोर कई तरीकों से बढ़ा सकते हैं। क्रेडिट कार्ड में आप ईएमआई (EMI) को सही समय पर भर के अपना कार्ड स्कोर बढ़ा सकते है। जिससे यूजर का क्रेडिट कार्ड का लिमिट तय समय में सिक्योरिटी का कार्य भी करता है।

 

यूजर सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड कैसे ले सकते हैं ?

तो हम आपको बता दें कि, आपको सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड लेने के लिए बैंक में सिर्फ एफडी अमाउंड खोलना होेगा। आपके एफडी अमाउंड में जितना ज्यादा पैसा होगा, आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट उतनी ज्यादा होगी। इसी एफडी अमाउंट के आधार पर बैंक आपको सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड देता है। जिससे क्या होता है कि, आपकी ईएमआई (EMI) सही समय पर एफडी अमाउंड से कट जाती हैं और आपका क्रेडिट स्कोर (Increase credit score) बढ़ने लगता है।

ALSO READ  Hukka Bar News Update : हुक्का बार खोला या फिर होटल, रेस्तरां में हुक्का परोसा तो खानी पड़ सकती है 3 साल तक जेल की हवा, 5 लाख जुर्माना भी

 

क्रेडिट बिल्डर लोन कैसे प्राप्त करें ?

इस लोन की सबसे अच्छी बात यह है कि, इस लोन को लेने के लिए न ही क्रेडिट कार्ड और न ही क्रेडिट स्कोर (Increase credit score) की आवश्यकता होती हैं। क्रेडिट बिल्डर लोन के लिए आप अपने बैंक शाखा में जाकर आवेदन कर सकते हैं।

 

क्रेडिट यूटिलाइजेशन रेशियो पर कैसे रखें ध्यान ?

क्रेडिट यूटिलाइलेशन रेशियो का अर्थ है कि, क्रेडिट कार्ड की जो क्रेडिट लिमिट है, उसका एक महीने में कितना इस्तेमाल हो रहा है। आपको बता देे कि, जब भी हम कोई क्रेडिट कार्ड लेेने जाते है तो, बैंक उस कार्ड पर एक क्रेडिट लिमिट निर्धारित तय कर देता है। अगर आप 30 प्रतिशत से ज्यादा अनावश्यक प्रयोग करते हैं तो, आपका क्रेडिट स्कोर खराब होने लगता है।

ALSO READ  Char-Dham Yatra today Start : चार धाम यात्रा आज से शुरू, जानें गंगोत्री, यमुनोत्री, बद्रीनाथ और केदारनाथ दर्शन की भूमिका और पूरा विवरण

अगर आपको स्कोर कम है तो आप लिमिट का 20 प्रतिशत से ज्यादा उपयोग करनें से बचें। जिससे आपका क्रेडिट स्कोर (Increase credit score) तेजी से बढ़ेगा। एक अलग उदारण से यदि आप क्रेडिट कार्ड की लिमिट एक लाख रूपये है, तो आप उसका 20 हजार रूपये से ज्यादा खर्च करने से बचें।

 

अपना क्रेडिट रिपोर्ट कैसे चेक करें ?

आपको अपना क्रेडिट रिपोर्ट चेक करने के लिए, आप क्रेडिट ब्यूरो या यूपीआई से अपना क्रेडिट रिपोर्ट प्राप्त या देख सकते हैं। ऐसे में आप क्रेडिट ब्यूरो की वेबसाइट ( Equifax, Experian and transUnion) पर जाकर अपना क्रेडिट रिपोर्ट चेक कर सकते हैं और वही यूपीआई ऐप पर भी जाकर अपना क्रेडिट रिपोर्ट (Increase credit score) चेक कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *