Case of caste untouchability came to light in Haryana, Dalit youth murdered for drinking well water

Haryana Crime News : हरियाणा में जाति छुआछूत का मामला सामने आया, कुएं का पानी पीने पर दलित युवक की कर दी हत्या

Haryana Crime News : भारत में आज भी डिजीटल के युग में कई जगहों पर जातिवाद और धार्मिक से जुड़े हिंसात्मक मामले देखे जा सकते हैं। जिनके द्वारा पाखंडवाद से रची परंपराओं से छुआछूत की हिंसात्मक कहानियां हमारे समाज में किसी मोड़ पर आज भी देखी जा सकती है। इसी तरह का एक मामला हरियाणा में भी देखा गया है। जहां कुएं का पानी पीने पर एक दलित युवक की हत्या कर दी गई है। मामला महेंद्रगढ़ जिले के सेहलंग गांव का है, जहां रात के समय कुएं पर पानी पीने के लिए गए युवक को कुएं के मालिक ने पीटकर गंभीर रूप से घायल कर दिया। घायल युवक के परिजन इलाज करवाने के लिए सरकारी हस्पताल ले गए, इसी दौरान उस युवक की मौत हो गई।

ALSO READ  Haryana roadways ; राजस्थान के अलवर के लिए सीधी बस सेवा शुरू, देखें टाईम टेबल और रुट

 

 

पुलिस ने दर्ज किया मामला 

घायल युवक किरोड़ी ने हस्पताल में इलाज के दौरान दम ताेड़ दिया था। इसके बाद महेंद्रगढं पुलिस ने मृतक के बड़े भाई की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। हालांकि, पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद शव को परिजनों को सौंप दिया है। फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच में जुटी गई है।

 

 

क्या है पूरा मामला

गांव सेहलंग निवासी महेंद्र सिंह ने पुलिस में दी शिकायत रिपोर्ट में बताया कि, रविवार की रात करीब 9:30 बजे उसका छोटा भाई किरोड़ी उसे प्लाट पर सोने की बात कहकर घर से निकला था। मगर, सोमवार सुबह जितेंद्र उर्फ टुना अशोक के घर पर आया और बताया कि उसके कुएं पर किरोड़ी घायल अवस्था में पड़ा हुआ है, उसे उठा लाओ। जब वो और उसका बेटा अशोक मौके पर पहुंचे तो वहां पर किरोड़ी जख्मी रूप से घायल अवस्था में पड़ा हुआ था, और उसके शरीर से बहुत ज्यादा खून बह रहा था।

ALSO READ  Haryana Politics : JJP को झटका देने की तैयारी में देवेंद्र बबली, X अकाउंट पर पोस्ट के मायने आखिर क्या ?

 

 

जो घर पर सूचना देने आया था वही दोषी निकला

बता दें कि, जब अशोक ने अपने भाई से पूछा कि उसकी ये हालत किसने की है, तो उसने बताया कि, रात को वो अपने प्लाट से जितेंद्र उर्फ टुना के कुएं पर पानी पीने के लिए गया था। जितेंद्र उर्फ टुना वहीं पर था। जब किरोड़ी ने पानी पीने के लिए मटके को हाथ लगाया तो जितेंद्र ने किरोड़ी को जाति सूचक गालियां दी और कहा तेरी हिम्मत कैसे हुई हमारे पानी के मटके को हाथ लगाने की। ये कहकर उसने अपनी कोटड़ी में से लोहे की राड निकालकर बुरी तरह से मारा पीटा और मेरे हाथ पांव तोड़ दिए। इसके बाद अशोक ने मौके पर गांव के सरपंच को घटना की जानकारी दी और एंबुलेंस को बुलाकर किरोड़ी को सरकारी अस्पताल लेकर गए। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। वहीं मृतक के भाई ने आरोपी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की पुलिस से गुहार लगाई है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *