500 year old 'Satta Bazaar' surprised, this time this party will rule? Know how to bet on elections and sports here

Phalodi Satta Market : 500 साल पुराना ‘सट्टा बाजार’ ने चौंकाया, अबकी बार होगी इस दल की सरकार ? जानें- यहां चुनाव से लेकर खेल पर कैसे लगता है दांव

Phalodi Satta Market : लोकसभा चुनाव 2024 के दो चरणों के मतदान हो चुके हैं। पहले फेज में 102 और दूसरे चरण में 88 सीटों की किस्मत का फ़ैसला ईवीएम में बंद है, लेकिन किसको कितनी सीटें मिलेंगी? कौन जीतेगा, कौन हारेगा? इसका आंकलन भी लगना शुरू हो गया है। राजस्थान का छोटा सा शहर फलोदी इस दौरान चर्चा का केंद्र बना हुआ है। यहां के सट्टा बाज़ार में क्या चल रहा है, इस पर भी लोगों की निगाहें हैं।

बता दें की, लोकसभा के लिए सात चरणों में मतदान होने वाले हैं। 4 जून को फ़ैसले आने हैं, लेकिन लोगों की उत्सुकता अभी से है कि किसकी बनेगी सरकार? पार्टियों के दिलों में बेचैनी है कि, जनता का मूड क्या है? राजस्थान के छोटे से शहर फलोदी की चर्चा हर तरफ है। क्रिकेट में किसकी जीत होगी? अमेरिका के चुनावों में क्या होगा ? हार-जीत को लेकर अगर कहीं का सट्टा सबसे ज़्यादा चर्चा में रहता है तो वो फलोदी का है।

ALSO READ  Rupay Card cashback offer : रुपे कार्ड पर मिल रहा 15 हजार रुपये तक का कैशबैक, ऐसे उठाएं फायदा

 

 

 

फलोदी सट्टा बाजार में कैसे लगता प्रत्याशियों पर सट्टा

फलोदी के सट्टा बाज़ार (Phalodi Satta Market ) का नेटवर्क पूरे हिंदुस्तान में है। इसका कारोबार करोड़ों में बताया जाता है। कहा जाता है कि, यहां रोज़ाना अघोषित तौर पर करोड़ों का सट्टा लगता है। फलोदी सट्टा बाजार का गणित उल्टा है, चुनाव में जिस प्रत्‍याशी का फलोदी सट्टा बाजार भाव कम निकाल रहा है, इसका मतलब ये नहीं कि वो प्रत्‍याशी कमजोर है। कम पैसे के भाव का मतलब उस प्रत्‍याशी की जीत की संभावना उतनी ही अधिक मानी जाती है, जिनके भाव ही नहीं निकल रहे, मतलब उनके हार की संभावना ज़्यादा है।

 

 

 

फलोदी सट्टा बाजार का चुनावों पर अब तक कैसा रहा आकलन

मुंबई शेयर मार्केट (Phalodi Satta Market ) में भी फलोदी वालों की पकड़ काफ़ी मज़बूत मानी जाती है। बताया जाता है कि, यहां के करीब 300 लोग वहां काम करते हैं। फलोदी शहर के बारे में देश के दूसरे हिस्सों में शायद ही कोई ज़्यादा जानता हो, लेकिन इसके सट्टा बाज़ार की चर्चा बेहद गर्म रहती है।

ALSO READ  IPL Game update : युजवेंद्र चहल ने आईपीएल में रचा इतिहास, पत्नी धनुश्री ने बरसाया प्यार

हाल ही में यहां के कई आंकलन ने लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा है। पिछले साल मई में कर्नाटक में चुनाव हुए थे। फलोदी सट्टा बाज़ार ने कांग्रेस को 137 और बीजेपी को 55 सीटें दी थीं। नतीजों में कांग्रेस को 135 और बीजेपी को 66 सीटें मिली थीं। इससे पहले 2022 में हिमाचल प्रदेश में कांटे की टक्कर के बीच कांग्रेस की जीत बताई गई थी, और ऐसा हुआ भी।

 

 

500 साल से प्रसिद्ध है फलोदी का सट्टा बाजार

फलोदी का ये सट्टा बाजार (Phalodi Satta Market ) काफी प्रसिद्ध है। ये भी बताया जाता है कि ऐसा सट्टा किसी और जगह नहीं खेला जाता है। हालांकि, बीकानेर और शेखावटी में कुछ इसी तरह का सट्टा लगाया जाता है. जानकारों का कहना है कि यहां पारंपरिक रूप से करीब 500 साल से सट्टा खेला जा रहा है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *