EU eases rules for Indians! This will be beneficial for those going to Europe

EU Visa : ईयू ने भारतीयों के लिए आसान किये नियम ! यूरोप जाने वालों के लिए ये होगा फायदा

EU Visa (schengen visa ): विदेश में हॉलीडे मनाने या फिर घूमने जाने वालों के लिए यूरोपीय यूनियन ने दी खुशी। ईयू (EU Visa) ने भारतीयों के लिए शेंगेन वीजा को नियमों में काफी ढील दी है। सूजना के अनुसार भारतीयों के वीजा की वैलिडिटी 5 साल तक हो सकती है। जबकि अमेरिका पहले से ही 10 साल का विजिटर वीजा देता है।

बल्कि शेंगेन वीजा पर यूरोप (EU Visa)  जाने वालों को बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। यदि लोगों को लंबे समय तक यूरोप के 27 में से किसी भी देश में रूकना पड़ता था, तो बार-बार वीजा रिन्यू करवाने की चिंता रहती थी। पर अब नए नियमों के बाद लोगों का कागज कामकाज कम हो जाएगा।

 

 

विजिटर वीजा में कितनी मिलेगी वैलिडिटी की छूट

ALSO READ  मरीज की जान बचाने तीन किलोमीटर पैदल दौड़े डॉक्टर, जाम था ट्रैफिक

बता दें कि, कम फीस पर यूके लंबे समय का विजिटर वीजा देता है। ईयू (EU Visa) ने अपने बयान जारी करते हुए कहा कि, नए वीजा नियमों के अनुसार भारतीयों लॉन्ग ट्रम और मल्टी एंट्री शेनजेन वीजा दो साल की वैलिडिटी के साथ जारी किया जा सकेगा। जबकि, इसके लिए बीते तीन साल में दो वीजा लेना जरूरी है।

दो साल के वीजा के बाद पांच साल का वीजा भी मिल सकता है। यदि पासपोर्ट की वैलिडिटी पर्याप्त होगी तो वीजा बढ़ाया जा सकेगा। इसके बावजूद schengen visa वीजा धारक वीजा फ्री देशों की यात्रा कर सकता है।

 

इयू ने वीजा के नियमों में कब बदलाव किये है ?

गौरतलब है कि, यूरोपीय यूनियन (EU Visa) ने 18 अप्रैल को ईसी यानि यूरोपीय कमिशन की तरफ से नियमों में परिवर्तन के बाद वीजा नियमों मेें विशेषता दी गई है। इसके बावजूद भारत में रह रहे लोगों के लिए भी शेंगेन वीजा के नियम आसान किए जाएंगे। भारत और ईयू में संबंध मजबूत करने के लिए यह सिफारिश की गई है।

ALSO READ  डेरा प्रेमी की गोलियां मार कर हत्या, सुरक्षा के लिए मिला गनमैन भी घायल

शेंगेन वीजा पर कितने दिनों तक और कितने देशों में यात्रा की जा सकती है ?

गौरतलब है कि, शेंगेन वीजा  schengen visa (EU Visa) बरहाल् भारतीय या़ित्रयों को 90 दिन के लिए मिलता है। जबकि इस वीजा पर 180 दिनों के दौरान 90 दिनों में 29 देशों की यात्रा की जा सकती है। इन देशों में बेल्जियम, बुल्गारिया, क्रोशिया, चेक रिपब्लिक, डेनमार्क, लिथुआनिया, लग्मबर्ग, हंगरी, माल्टा, नीदरलैंड्स, ऑस्ट्रिया, पोलैंड, पुर्तगाल, रोमानिया, स्लोवानिया, स्लोवाकिया, पिनलैंड, स्वीड, आईसलैंड, नॉर्वे और स्विट्जरलैंड आदि देश शामिल हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *