बीघड़ में प्रस्तावित जेल साइट का डीजी जेल ने किया निरीक्षण, लगाए कई ऑब्जेक्शन

फतेहाबाद। धांगड़ में जमीन का रेट ज्यादा होने के चलते अब बीघड़ क्षेत्र में प्रस्तावित जेल की साइट पर भी संशय के बादल मंडराते दिख रहे हैं। डीजी जेल अकील मोहम्मद ने बीघड़ के ढांड रोड पर साइट का निरीक्षण किया और प्रशासनिक अधिकारियों और जमीन मालिकों से विस्तार से जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने जमीन की साइट को लेकर कुछ ऑब्जेक्शन भी लगा दिए हैं। इन ऑब्जेक्शन को दूर करने के बाद ही इस जगह का चयन होगा और फिर यहां जेल निर्माण होगा।

यहां क्लिक करें और डीजी के निरीक्षण का पूरा वीडियो देखें

इस अवसर पर एसपी सुरेंद्र  भौरिया, हिसार जेल सुपरीडेंट दीपक शर्मा, राजस्व विभाग के अधिकारी भी उनके साथ मौजूद रहे। डीजी जेल ने प्रस्तावित जमीन का नक्शा मंगवाकर ध्यान से देखा और जमीन मालिकों से जमीन के हिस्सेदारों, उनके पिता, उनके भी पिता यानि तीन पीढिय़ों का रिकार्ड देने के निर्देश दिए। इस जमीन के 8-9 हिस्सेदार हैं, सभी का रिकार्ड उन्होंने तलब किया। साथ ही उन्होंने राजस्व विभाग के अधिकारियों से यह भी पता करने को कहा कि जमीन पर कोई कब्जे का मामला ना हो, शामलात की भूमि ना हो या फिर किसी भी प्रकार का कोई विवाद बाकी न हो।

ALSO READ  सात वर्षीया मासूम बच्ची से छेडछाड के 66 वर्षीय दोषी को 5 साल की कैद व जुर्माना

थाना और पुलिस लाइन दूर होने पर उठाया सवाल

डीजी ने जमीन निरीक्षण के दौरान पूछा कि प्रस्तावित जमीन से थाना और पुलिस लाइन कितनी दूर है। जिस पर उन्हें दूरी बताई गई, जिस पर डीजी ने प्रश्न चिह्न लगाते कहा कि जेल ऐसी जगह हो, जहां से लाइन और थाने नजदीक हों। जिस पर एसपी और किसानों ने बताया कि यहां से बीघड़ करीब एक किलोमीटर दूर है और बीघड़ के नजदीक ही सेक्टर हैं, जहां थाना और उसके बाद लाइन है। नया बस स्टैंड और अस्पताल भी उससे आगे बन रहे हैं। लेकिन डीजी इस बात से कुछ असंतुष्ट नजर आए। इसके बाद उन्होंने हाइवे से इस साइट की दूरी पूछी तो वह भी काफी दूर नजर आने पर उन्होंने इस पर भी ऑब्जैक्शन लगाया है।

ALSO READ  फतेहाबाद की मुस्कान सिंगला ने जेआरएफ यूजीसी नेट परीक्षा उत्तीर्ण कर किया नाम रोशन

नक्शे में साइट के कई कोनों पर ऑब्जेक्शन

डीजी ने जब नक्शा देखा तो उसमें प्रस्तावित साइट चौकोर न होकर टेढ़ी मेडी थी। कहीं तो उन्होंने कहा कि इस जमीन को चौकोर करें। कहीं कोई किला छोडऩा है तो छोड़ो, और कोई किला लेना पड़े तो लो, उस हिसाब से नक्शा बनाकर फिर भेजो। इसके पीछे उन्होंने कारण सुरक्षा बताया। उन्होंने कहा कि जेल की बाऊंडरी वॉल बने तो सीधी बने, टेढ़ी मेढ़ी नहीं।

55 फुटी बीघड़-ढांड रोड पर वर्षों से कब्जा, डीजी के दौरे पर आया सामने

फतेहाबाद। फतेहाबाद के गांव बीघड़ केे ढांड रोड के दोनों ओर पिछले लंबे समय से लगभग 30 फुट तक लोगों ने कब्जा किया हुआ है और प्रशासन इससे अभी तक अनभिज्ञ है। इस बात का खुलासा आज उस समय हुआ, जब डीजी जेल फतेहाबाद में प्रस्तावित जेल की साइट का निरीक्षण करने पहुंचे। उन्होंने जब जमीन का नक्शा देखा जमीन के साथ से गुजर रहे ढांड रोड की चौड़ाई करीब 55 फुट दर्शाई गई, जबकि यहां पर रोत्र 12-13 फुट ही नजर आता है और सड़क के किनारों पर भी 4-5 फुट ही जमीन खाली है। यानि करीब 30 फुट तक जमीन दोनों साइड लोगों ने कब्जा कर काश्त की हुई है और वर्षों से रोड इसी दशा में है, तो यह कहना गलत नहीं होगा कि वर्षों से ही लोगों ने रोड की जमीन कब्जाई हुई है। जमीन मालिकों से जब रोड की एक्चुअल चौड़ाई पूछी तो उन्होंने भी माना कि 55 फुटी रोड है, इस पर काश्त कर दी गई है। अब सवाल उठता है कि यदि जेल का मामला ना होता तो यह पता ही नहीं चल पाता कि रोड पर कब्जा है। प्रशासन सोता ही रहा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *