भाखड़ा में ट्रैक्टर सहित बहीं महिलाओं की तलाश जारी: एनडीआरएफ ने संभाला मोर्चा

फतेहाबाद। फतेहाबाद के टोहाना के साथ लगते पंजाब क्षेत्र में बीते दिन भाखड़ा नहर में ट्रैक्टर सहित डूबी तीन महिलाओं का आज भी पता नहीं चल पाया है। एनडीआरएफ की टीम ने शाम से ही मोर्चा संभाला हुआ है। देर रात 10 बजे तक टीम नहर में सर्च करती रही और आज सुबह फिर 6 बजे से सर्च आपरेशन जारी है, लेकिन नहर में करीब 4 किलोमीटर तक कहीं महिलाओं का सुराग नहीं मिला।

वहीं देर शाम पंजाब के मुनक के एसडीएम सूबा सिंह व तहसीलदार प्रवीण सिंगला ने इस घटना में बचकर निकलीं अन्य महिलाओं का कुशलक्षेम जाना। आज भी नहर किनारे लोगों का तांता लगा हुआ है। आपको बता दें कि कल सुबह करीब 11 बजे 14 महिला खेत मजदूरों व एक नौसिखिए चालक सहित ट्रैक्टर पंजाब के हरिगढ़ गेला क्षेत्र में भाखड़ा नहर में जा गिरा था। जिनमें से चालक व अन्य महिलाओं को लोगों ने बाहर निकाल लिया था।

ALSO READ  आरोप: मंगेतर जबरन बनाता रहा संबंध, अब बोला शादी नहीं करूंगा मन भर गया

चालक मौके से ही फरार हो गया था। लोगों को बाहर निकालते हुए वीडियो फुटेज भी आज सामने आ गई है। कल दोपहर को 3 बजे उसी जगह से ट्रैक्टर को के्रेन की सहायता से बाहर निकाला गया था। पुलिस टीम कार्रवाई में जुटी रही, गोताखोर नहर में तलाश करते रहे, लेकिन मनियाना निवासी 16 वर्षीय पायल, 32 वर्षीय कमलेश व गीता रानी का पता नहीं चला तो बाद में एनडीआरएफ टीम को बुलाया गया। करीब 35 लोगों की टीम सर्च आपरेशन में जुटी हुई है।

एनडीआरएफ की टीम के अधिकारियों ने बताया कि शाम को ही टीम ने मोर्चा संभाल लिया था। 24 घंटे से ऊपर का समय हो गया है, लेकिन अभी तक महिलाएं नहीं मिली हैं। नहर करीब 16 फुट गहरी है और बहाव काफी तेज है। 4 किलोमीटर एरिया में पूरा सर्च किया गया है, आगे डायवर्जन पर भी चेक किया जा रहा है, कहीं कोई गेट पर महिला की बॉडी फंसी न हो, यदि यहां बॉडी नहीं फंसती तो बहाव के अनुसार अब तक 20 किलोमीटर से आगे जा चुकी होंगी। जब तक महिलाएं नहीं मिलती, तब तक आपरेशन जारी रहेगा।

ALSO READ  बाबा के डेरा वापस आने पर भड़के ग्रामीण, सैकड़ों ग्रामीण डेरा के बाहर जमा, तनाव

कल मौके पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया था कि टोहाना से मुनक रोड पर पंजाब के गांव हरिगढ़ गेला मनियाना के आसपास महिलाएं खेतों में धान की जीरी लगाने का काम कर रही थी और उन्हें पौध को एक खेत से दूसरे खेत में ले जाना था। करीब 14 महिलाएं ट्रैक्टर पर सवार हो गईं, कुछ महिलाएं सीट पर तो कुछ महिलाएं ट्रैक्टर के पीछे जुड़े कल्टीवेटर पर बैठ गईं।

ट्रैक्टर का चालक भी यहीं पर खेत की मेढ़ बना रहा था। चालक के व्यस्त होने पर वहीं मौजूद एक अन्य युवक महिलाओं को ले जाने के लिए टै्रक्टर पर बैठ गया। बताया यह भी जा रहा है कि युवक दिव्यांग है। युवक ट्रैक्टर चलाकर जैसे ही नहर के पास पहुंचा तो अचानक ट्रैक्टर उससे संभला नहीं और अनियंत्रित होकर नहर में जा गिरा। जिसके बाद यहां सनसनी फैल गई और लोग इकट्ठा होना शुरू हो गए।

ALSO READ  दीपावली पर दुखद हादसा: पोटाश में धमाका, बालक झुलसा

पुलिस को भी मामले की सूचना दी गई। बाद में लोगों की सहायता से 11 महिलाओं को बाहर निकाल लिया गया। चालक भी स्वयं बाहर आ गया। मनियाना निवासी 16 वर्षीय पायल, 32 वर्षीय कमलेश व गीता रानी नहर में ही बह गईं। कुछ महिलाओं को टोहाना के निजी अस्पताल लाया गया, जहां उनके अंदर से पानी निकाला गया।

नहर से निकली महिला मजदूरों ने बताया कि एकाएक पता नहीं क्या हुआ कि ट्रैक्टर तेजी से दौड़ा और नहर में जा गिरा। मौत को उन्होंने अपने सामने देखा और लगा कि वे बच नहीं पाएंगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *