Jind Unemployed Youth Protest : जींद में जुटे प्रदेश भर के बेरोजगार युवा, निकाली बेरोजगारों की बारात, भाजपा कार्यालय में रखा दूल्हे का सेहरा

Jind Unemployed Youth Protest :  सीईटी की भर्ती को पूरा करवाने समेत सरकार द्वारा वायदे के अनुसार 60 हजार भर्तियां पूरी करने की मांग को लेकर प्रदेश भर के बेरोजगार युवा जींद में जुटे। यहां जाट धर्मशाला से लेकर शहर से होते हुए भाजपा जिला कार्यालय तक बैंड-बाजे, रथ के साथ बारात निकाली गई और कार्यालय में पहुंचकर मांग पत्र तथा दूल्हे का सेहरा कार्यालय में सौंपा।

 

युवा नेता दिनेश ढांडा, अमर दांगी, नवीन कौशिक, दीपक लाठर, प्रियंका खरकरामजी ने कहा कि पिछले चार साल से प्रदेश में कोई भी पक्की भर्ती नहीं की गई है। यहां तक की पटवारी और ग्राम सचिव की भर्ती तो लगातर पिछले दस साल से लंबित है। लंबे समय से प्रदेश बेरोजगारी के मामले में पहले स्थान पर है।

ALSO READ  School bus accident case ; हरियाणा में 6 मासूमों की जान जाने के बाद जागा परिवहन विभाग, RTA सहायक सचिव प्रदीप कुमार सस्पेंड, सभी जिलों के लिए ये आदेश जारी

 

हरियाणा सरकार (Jind Unemployed Youth Protest) ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा तो दिया लेकिन विडंबना यह है कि वही बेटियां आज पेपर देने के बाद भी रिजल्ट नहीं मिलने की वजह से सड़कों पर प्रदर्शन करने को मजबूर हैं। युवाओं ने कहा कि अगर सरकार उन्हें रोजगार नहीं देती है तो वह सरकार का आने वाले चुनाव में बहिष्कार करेंगे और गांव शहर और कस्बों में जाकर रोजगार के नाम पर वोट देने की अपील करेंगे।

 

युवाओं (Jind Unemployed Youth Protest) की मांग है कि सरकार जल्दी से जल्द सभी भर्तियों को निकाला जाए। जिन भर्तियों का पेपर हो चुका जैसे ग्रुप 56-57 उनको जल्दी से पूरा कर नई भर्ती निकाली जाए। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने 31 दिसंबर 2023 तक 60 हजार भर्तियों का वादा किया था, लेकिन वह अपने इस वादे से पीछे हटे।

ALSO READ  Hisar Roadways Accident : सड़क पर गड्ढे के कारण कार ने मारा कट, पीछे आ रही बस अनियंत्रित होकर पेड़ से टकराई

 

फिर उन्होंने विधानसभा में 29 फरवरी 2024 तक 29 हजार नौकरियां देने का वादा किया, लेकिन वह वादा भी पूरा नहीं किया। उन्होंने फिर कहा कि ग्रुप 56-57 की और ग्रुप सी की बाकि भर्ती ग्रुप डी से पहले करने की बात कही थी, लेकिन वह फिर से अपनी बात से पलट गए। वहीं अब नए मुख्यमंत्री नायब सैनी ने भी रोजगार को लेकर कोई बात नहीं की। ऐसे में युवाओं (Jind Unemployed Youth Protest) में काफी रोष है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *