स्कूल संचालकों को प्रशासन ने दी 10 दिन की मोहलत : डीसी से मिले स्कूल संचालक, 10 दिन में तय पूरे करने होंगे मानक

फतेहाबाद। कनीना बस दुर्घटना (Kanina School Bus Accident) के बाद प्रशासन द्वारा बरती जा रही सख्ती से घबराए फतेहाबाद (Fatehabad) जिला भर के स्कूल संचालक आज डीसी से मिलने पहुंचे। यहां डीसी राहुल नरवाल ने सभी स्कूल संचालकों के साथ मीटिंग कर उनकी मांगें सुनीं। जिसके बाद जिला प्रशासन द्वारा उन्हें 10 दिन का समय दिया गया है। 10 दिन तक वे स्कूल बसों के संबंध में तय सारे मानक पूरे करेंगे। तब तक सड़कों पर स्कूल बसों को नहीं रोका जाएगा और किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की जाएगी। 10 दिन बाद प्रशासन फिर अभियान चलाएगा और यदि फिर भी कोई बस बिना परमिट या फिटनेस के मिली तो उन पर शिकंजा कसा जाएगा।

इस संबंध में डीसी राहुल नरवाल ने बताया कि बसों की सेफ्टी के लिए कई तरह के नियम तय हैं। स्कूल बसों को इन्हें पूरा करना है और 17, 20 21, 27 व 28 अप्रैल को सभी स्कूल संचालक आरटीए कार्यालय जाकर यह नियम पूरे करे सकते हैं। तब तक 10 दिन के लिए उन्हें मोहलत दी गई है।

ALSO READ  सिक्किम में हुए दुखद हादसे में फतेहाबाद जिले का जवान शहीद

चालकों द्वारा शराब पीने के सवाल पर डीसी ने कहा कि जो स्कूल बस चालक शराब पीते हैं, उनकी समय-समय पर अब काऊंसलिंग करवाई जाएगी ताकि वे ड्यूटी के दौरान किसी प्रकार के नशे में न हो और कोई कोताही न बरतें। जगह जगह खुले प्ले स्कूल व अकादिमयों के बारे में डीसी ने बताया कि अभी तक इनके बारे में कोई निर्देश नहीं हैं, इसको लेकर जल्द ही मीटिंग कर निर्णय लिया जाएगा।

 

साथ ही उन्होंने बताया कि स्कूलों में जो टाटा ऐस या मेजिक गाडिय़ां लगी हैं, उनमें भी नियम पूरे करके ही बच्चों को बैठाया जा सकता है, अन्यथा नहीं। उपायुक्त ने बताया कि निजी स्कूल के प्रतिनिधियों को साथ लेकर प्रशासन द्वारा एक कमेटी बनाई जाएगी, जिसका नोडल अधिकारी सीटीएम होंगे। यह कमेटी जिले के सभी स्कूलों में जाकर वाहन चालकों और परिचालकों की कांऊसिंलग करेंगे। वही फतेहाबाद के डीसी ने कहा कि जो स्कूल बिना मान्यता के चल रहे हैं उसका रिकार्ड भी शिक्षा विभाग से मांगा गया है और उन पर सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इस अवसर पर जिलेभर के स्कूल संचालक मौजूद रहे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *