A Hindu king who was the son-in-law of the daughter of Mughal Emperor Akbar, let's find out who he was.

Mughal Empire wedding Story : एक ऐसा हिंदू राजा जो मुगल बादशाहा अकबर की बेटी का बना था दामाद, आए जानें कौन था वो राजा 

Mughal Empire wedding Story : भारत के इतिहास के पन्नों पर या बुज्रगों से हिंदू राजाओं और मुगलों बादशाहों के बीच युद्ध के कई कहानियां आप सब ने सुनी होगी। मगर समय और परिस्थितियों के हिसाब से इन लोगों के बीच दोस्ती का जिक्र कम ही सुना होगा। पाठकों को बता दें कि, इतिहास में ऐसे भी कहानियां हैं जब दोनों समुदायों के बीच दोस्ती से बढ़कर रिश्तेदारी तक बात पहुंच गई। जैसे जोधा, ओमार की हिंदू राजकुमारी थीं, जिसका निकाह 20 साल की उम्र में अकबर से हुआ था।

पाठकों को इतिहासिक तथ्यों से सूचित कर देंगे कि, केवल मुगल बादशाहों के निगाह ही नहीं होते थे, बल्कि हिंदू राजाओं ने भी प्रतिद्वंदी मुगल वंश की शहजादियों से विवाह भी रचाया है। इस लिस्ट में सबसे पहला नाम महाराणा अमर सिंह का आता है। महाराणा अमर सिंह महाराणा प्रताप के बड़े बेटे महाराणा उदय सिंह के द्वितीय के पौत्र थे। जो मुगल वंश की शहजादी से विवाह (Mughal Empire wedding Story) करने वाले वो पहले हिंदू राजा थे।

ALSO READ  Mutual Fund Scheme News : करोड़ों रूपए का रिटर्न देकर Mutual Fund बना सकता है लोगों काे करोड़पति, आए जानें कैसे

राजा महाराणा अमर सिंह और शहजादी खानूम का विवाह

पाठकों को बता दें कि, अमर सिंह के गद्दी पर आने से पहले ही मुगल-मेवाड़ युद्ध चल रहा था। महाराणा प्रताप की मृत्यु के बाद अमर सिंह ने मुगलों पर तेजी से वार किए जिसके कारण मुगलों को मेवाड़ से भागना पड़ा।  इतिहासिक रिपोर्ट के अनुसार, मेवाड़ को न जीत पाने के कारण संधि के चलते अकबर ने अपनी बेटी शहजादी खानुम का विवाह (Mughal Empire wedding Story) हिंदु राजा अमर सिंह से करा दिया था।

अकबर ने अपनी मुंहबोली भतीजी का विवाह इस हिंदु राजा से करवाया ?

पाठकों को इतिहासिक कथा से सूचित करा दें हैं कि, मुगल बादशाह अकबर ने अपनी मुंहबोली ‘भतीजी’ का विवाह (Mughal Empire wedding Story) एक हिंदू राजा से करवाया था। शहजादी का नाम था बीवी मुबारक, वह अकबर के मुंहबोले भाई अधम खान की बेटी थी। उनका विवाह अकबर के ही नवरत्न मान सिंह से करवाया था। क्योंकि राजा मान सिंह अकबर की सेना के प्रधान सेनापति थे। मान सिंह गुजरात, काबुल, बंगाल, बिहार, झारखंड और ओडिशा के सूबेदार नियुक्त किए भी गए थे। बताया जाता है कि बीवी मुबारक को राजा मान सिंह बहुत पसंद थे। इसलिए बादशाह अकबर ने उनके प्रेम को देखते हुए अपनी सहमति से ये विवाह करवाया था।

ALSO READ  Diversity Visa 2025 : अमेरिका ने डायवर्सिटी वीजा-2025 के रिजल्ट की तारीखों की घोषणा की, जानें पूरा विवरण

इन हिंदू राजाओं नें भी रचाया मुस्लिम शहजादियों से विवाह

मेवाड़ का राजा महाराणा कुम्भा ने 1433 में स्थानीय युद्ध जितने के बाद मेवाड़ की राजगद्दी संभाली थी। कहा जाता है कि, इतिहास में राजा महाराणा कुम्भा अजेय योद्धा के तौर पर जाने जाते हैं। महाराणा कुंभा ने जागीरदार वजीर खां की बेटी से विवाह किया था। इनके अलावा, राजा छत्रसाल ने रूहानी बाई से विवाह (Mughal Empire wedding Story) किया था। रूहानी बाई, हैदराबाद के निजाम खां की बेटी थीं। बताया जाता है कि मेवाड़ के राणा सांगा ने मुस्लिम सेनापति की बेटी मेरूनीसा से विवाह किया था। इसके अलावा उन्होंने तीन और मुस्लिम लड़कियों से विवाह किया की था।

औरंगजेब ने अपनी बेटी को दी मोहब्बत करने की सजा

इतिहास के कुछ पन्नों पर बताया जाता है कि, मुगल बादशाह औरंगजेब की सबसे बड़ी बेटी जेबुन्निसा को एक हिंदू राजा पर दिल आ गया था। मगर औरंगजेब को यह मंजूर नहीं था। कहा जाता है कि, जेबुन्निसा को बुंदेलखण्ड के महाराज छत्रसाल से मोहब्बत थी। उसने एक महफिल में छत्रसाल को देखा था, मगर औरंगजेब को अपनी बेटी की यह मोहब्बत कतई पसंद नहीं थी। इस कारण से औरंगजेब ने अपनी बेटी को ही सलीमगढ़ किले कैद कर दिया। मोहब्बत करने के कारण 20 साल तक वो किले में बंद रही और वहीं उसकी मौत हो गई थी।

ALSO READ  Principal molests female teacher : हरियाणा में प्रिंसिपल ने म्यूजिक टीचर से छेड़छाड़ की : कहा- आज तो कमाल लग रही हो, मुझे खुश कर दो, सारी क्लास हटा दूंगा

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *