Earns Rs 80 lakh annually without any hard work! Let's find out what this girl does to earn money

International update : बिना किसी मेहनत के कमाती है, सलाना 80 लाख रुपए ! आए जानें कमाने के लिए क्या करती है ये लड़की

International update : एक आम इंसान को जिंदगी अच्छे से जीने के लिए नौकरी की जरुरत पड़ती हैं। अब ऐसे में कुछ लोग होते हैं जिन्हें नौकरी आसानी से तो मिल जाती है लेकिन उनका वहां काम करने का बिल्कुल मन नहीं करता क्योंकि वहां काम ऐसा होता है कि, हम करना नहीं चाहते और नौकरी (International update) में ऊपर से प्रेशर और ज्यादा बनाया जाता है, लेकिन कुछ लोग होते हैं। जो कम मेहनत के भी उस काम को कर लेते हैं, जिससे बाद में अच्छी-खासी इनकम हो। ऐसी ही एक लड़की की कहानी इन दिनों चर्चा में है।

 

 

हम बात कर रहे हैं, अमेरिका के हॉस्टन (International update) की रहने वाली ग्रेस रयू (Grace Ryu) के बारे में। ग्रेस रयू अपनी मर्ज़ी के मअनुसार नौकरी करती है। उसे ऐसे काम में संतुष्टि भी मिलती है। अपने इस काम के बदले उसे हर साल $96,000 यानि 80 लाख 15 हजार रुपये मिलते हैं। इतने पैसे मिलने के बावजूद वो उसे कहीं भी टिककर नौकरी करने की जरूरत नहीं है। न्यूयॉर्क पोस्ट (International update) में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, ग्रेस एक ऐसी जगह नौकरी करती है! जो उसकी पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ को बैलेंस करे।

ALSO READ  Haryana Weather Alert : हरियाणा में आज फिर आंधी के साथ बरसात होने की आशंका, आए जानें क्या कहा मौसम विभाग ने

 

 

 

लड़की कैसे कमाती है इतना पैसा?

अमरीकी मीडिया (International update) से बात करते हुए लड़की ने अपने बिजनेस के बारे में बताया कि, उसने अपनी स्टूडेंट लाइफ में ही पैसा कमाने का एक ऐसा जुगाड़ निकाला, जिससे अब उसे कभी 9 TO 5 वाली नौकरी करने की जरुरत नहीं पड़ेगी। ग्रेस बताती है कि, ये मज़ेदार होता है आप जहां जब मन करे ! नौकरी करने लगें। मैं हॉस्पिटैलिटी से लेकर टेक्नोलॉजी और सेल्स तक की नौकरी कर लेती हूं और उसके साथ नैनी के काम को उसने जारी रखा है।

 

ग्रेसी बताती है कि, उसने न्यूयॉर्क में कुछ महीने तक लिव इन नैनी की नौकरी की और फिर दो महीने के लिए वो टेक्स वापस आ गई और वहीं उन्होंने पार्ट टाइम नैनी का काम करना शुरू कर दिया। इसके अलावा उन्होंने टेक सेल्स और अकाउंट मैनेजर के तौर पर भी नौकरी की।

ALSO READ  Rohtak MDU News : एमडीयू ने फीस जमा न करने पर लगाया भारी जुर्माना, करीब 15 छात्रों के एडमीट कार्ड रोके

 

नैनी के अलावा उन्होंने डॉगवॉकर क्रिएटर, टिकटॉक पार्टनर एनफ्लुएंसर, मार्केटर जैसी कई फ्रीलांस नौकरियां करने के बाद वो अपने माता-पिता के घर में रहने कोरिया चली गई। ग्रेस का कहना है कि, वो फिलहाल नौकरी नहीं करना चाहती और इसी तरह से अपने काम को कर अपने जीवन को जीना चाहती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *